• Latest

    भारत की प्रमुख नदियां - indian rivers

    भारतीय नदियां -Indian rivers

    1 सिन्धु नदी :-  

    सिंधु नदी को इंडस नदी भी कहा जाता है। इस नदी का उद्गम तिब्बत स्थित मानसरोवर झील से हुआ है। सिंधु नदी तिब्बत, भारत तथा पाकिस्तान में बहते हुए अरब सागर में मिल जाती है। सिंधु नदी की कुल लंबाई लगभग 2880 किमी है तथा यह भारत में 992 किमी लम्बी है। सिंधु नदी की प्रमुख सहायक नदियों झेलम , चिनाब , रावी , व्यास एवं सतलज है । अन्य सहायक नदीयां : रावी, शिंगार, गिलगित, श्योक , लेह।

    2 झेलम नदी :- 

    झेलम नदी का उद्गम कश्मीर घाटी की शेषनाग झील के निकट बेरनाग नामक स्थान से हुआ है। वूलर झील में मिलने के बाद यह पाकिस्तान में प्रवेश करती हैं तथा चेनाब नदी में मिल जाती है। झेलम नदी की की कुल लंबाई 724 किमी है एवं भारत में इसकी लंबाई 400 किमी है।
    इसकी प्रमुख सहायक नदीयां : किशन, गंगा, पुँछ लिदार,करेवाल, सिंध।

    3 चिनाब नदी :- 

    चिनाब नदी हिमाचल प्रदेश के लाहौल के बारालाचा दर्रे से निकलती हैं। यह पीर पंजाल के समांतर बहते हुए किशतबार के निकट पीर पंजार में गहरा गार्ज बनाती है। भारत में चिनाब नदी की लंबाई 1180 किमी है। यह पाकिस्तान में जाकर सतलज नदी में मिल जाती है।
    सहायक नदी : चन्द्रभागा जम्मू-कश्मीर

    4 रावी नदी :-

    रावी नदी हिमाचल प्रदेश के रोहतांग दर्रे से निकलती है एवं पाकिस्तान के मुल्तान के समीप चेनाब नदी में मिल जाती है। इस नदी की लंबाई 725 किमी हैं
    सहायक नदीयां : साहो, सुइल पंजाब

    5 सतलुज नदी :-

    सतलज नदी का उद्गम तिब्बत स्थित मानसरोवर झील के निकट राक्षसताल से हुआ है। यह नदी अपने उद्गम स्थल से 1450 किमी दूरी तय करके पाकिस्तान में चेनाब नदी में मिल जाती है। भारत में सतलज नदी की लंबाई 1050 किमी है। प्रसिद्ध भाखड़ा - नागल बांध सतलज नदी पर ही बना है।
    सहायक नदीयां : व्यास, स्पिती, बस्पा (हिमाचल प्रदेश), पंजाब।

    6 व्यास नदी:- 

    इस नदी का उद्गम हिमालय के रोहतांग दर्रे के समीप व्यास कुण्ड से हुआ है । यह कुल लंबाई 470 किमी तय करते हुए पंजाब में सतलज नदी में मिल जाती है।
    सहायक नदीयां : तीर्थन, पार्वती, हुरला।

    7 गंगा नदी :- 

    गंगा नदी का उद्गम उत्तराखण्ड के गोमुख हिमनद के निकट गंगोत्री ग्लेशियर से हुआ है। वास्तव में अलखनन्दा तथा भागीरथी नदी के देवप्रयाग मिलने पर यह गंगा नदी कहलाती है। इलाहाबाद के निकट गंगा से यमुना मिलती है जिसे संगम या प्रयाग कहा जाता है। गंगा नदी दक्षिण - पूर्व की ओर बहते हुए बांग्लादेश में प्रवेश करती है जहां इसे पद्मा कहा जाता है। बांग्लादेश में समुद्र में मिलने से पहले ब्रह्मपुत्र नदी से मिलती है तो इसका नाम मेघना हो जाता है। गंगा नदी की कुल लंबाई 2525 किमी है तथा भारत मे इसकी लंबाई 2510 किमी है । गंगा नदी पश्चिम बंगाल मे विश्व प्रसिद्ध सुंदरवन का डेल्टा का निर्माण करती है। गंगा नदी की प्रमुख सहायक नदी यमुना, सोन, रामगंगा, घाघरा, कोसी, गंडक, इत्यादि हैं। अन्य सहायक नदीयां :  गोमती, बागमती, अलकनंदा, भागीरथी, पिण्डार, मंदाकिनी।

    8 यमुना नदी :-

    यमुना नदी गंगा नदी की प्रमुख सहायक नदी है । इस नदी का उद्गम उत्तराखण्ड के यमुनोत्री नामक ग्लेशियर से हुआ है जो बंदरपूछ पहाड़ी पर स्थित है। यमुना नदी के किनारे दिल्ली, मथुरा तथा आगरा जैसे बड़े शहर बसे हुए हैं। यह लगभग 1375 किमी का सफर तय करके इलाहाबाद के निकट प्रयाग में गंगा नदी में मिल जाती है। यमुना नदी की प्रमुख सहायक नदियों में टोंस , चम्बल, बेतवा , केन , तथा काली सिंध आदि शामिल हैं।
    सहायक नदीयां : चम्बल, बेतवा, केन, टोंस, गिरी, काली सिंध, आसन।

    9 रामगंगा नदी

    •लम्बाई: 690km
    •उद्गम स्थल : नैनीताल के निकट एक हिमनदी से
    • सहायक नदी : खोन

    10 घाघरा नदी :-

    इस नदी का उद्गम मापचाचुंग (नेपाल) ग्लेशियर से हुआ है जो तिब्बत के पठार मे स्थित हैं। यह नेपाल के मध्य से बहती है। हिमालय तथा शिवालिक श्रेणियों को पार करते समय यह राशिपानी नामक स्थान पर गहरी संक्रीर्ण घाटी का निर्माण करती है। घाघरा नदी बिहार मे छपारा के पास गंगा नदी मे मिल जाती है। इस नदी की लंबाई लगभग 1080 किमी है।
    सहायक नदीयां : हिमनद शारदा, करनली, कुवाना, राप्ती, चौकिया।

    11 गंडक नदी :-

    इस नदी का उद्गम नेपाल, तिब्बत की सीमावर्ती पर्वत श्रंखलाओ से हुआ है। नेपाल में इस नदी को शालीग्रमी तथा नारायणी नाम से जाना जाता है। उत्तर प्रदेश तथा बिहार की सीमा मे बहते हुए यह नदी पटना के पास गंगा नदी में मिल जाती है। गण्डक नदी की लंबाई लगभग 425 किमी है।
    सहायक नदीयां :काली गंडक, त्रिशूल, गंगा

    12 कोसी नदी :-

    कोसी नदी का उद्गम प्रारंभिक रुप में सात धाराओ से हुआ जो नेपाल, हिमालय तथा कंचनजंगा पर्वत से निकलती है। इन धाराओ मे सबसे बड़ी धारा का नाम अरुण है जो माउंट एवरेस्ट के पास से निकलती है। बिहार के मैदानी भागों मे बहते हुए यह नदी भागलपुर जिले मे गंगा नदी मे मिल जाती है। इसकी लम्बाई 729 km हैं।
    सहायक नदीयां : इन्द्रावती, तामुर, अरुण, कोसी।

    13 चम्बल नदी :-

    चम्बल नदी मध्यप्रदेश के इन्दौर जिले मे स्थित महू के निकट जानापाओ पहाड़ी से निकलती है। यह नदी मध्यप्रदेश, राजस्थान होते हुए उत्तर प्रदेश के इटावा जिले मे यमुना नदी में मिल जाती है। चम्बल नदी की लंबाई लगभग 960 किमी है। यह नदी बीहड़ों ( गड्ढे) का निर्माण करती है।
    सहायक नदीयां :काली सिंध, सिप्ता, पार्वती, बनास।

    14 बेतवा नदी
    •लम्बाई: 480km
    •उद्गम स्थल: भोपाल के पास उबेदुल्ला गंज के पास मध्य प्रदेश

    15 सोन नदी
    •लम्बाई: 770 km
    •उद्गमस्थल:अमरकंटक की पहाड़ियों से
    •सहायक नदी:रिहन्द, कुनहड़

    16 दामोदर नदी
    •लम्बाई: 600km
    •उद्गम स्थल: छोटा नागपुर पठार से दक्षिण पूर्व
    •सहायक नदी:कोनार,
    जामुनिया,
    बराकर झारखण्ड,
    पश्चिम बंगाल

    17 ब्रह्मपुत्र नदी
    •लम्बाई: 2,880km
    •उद्गम स्थल: मानसरोवर झील के निकट (तिब्बत में सांग्पो)
    •सहायक नदी: घनसिरी,
    कपिली,
    सुवनसिती,
    मानस, लोहित,
    नोवा, पद्मा,
    दिहांग अरुणाचल प्रदेश, असम

    18 महानदी
    •लम्बाई: 890km
    •उद्गम स्थल: सिहावा के निकट रायपुर
    •सहायक नदी: सियोनाथ,
    हसदेव, उंग, ईब,
    ब्राह्मणी,
    वैतरणी मध्य प्रदेश,
    छत्तीसगढ़,
    उड़ीसा

    19 वैतरणी नदी
    • लम्बाई: 333km
    •उद्गम स्थल:क्योंझर पठार उड़ीसा
    20 स्वर्ण रेखा
    •लम्बाई: 480km
    •उद्गम स्थल ;छोटा नागपुर पठार उड़ीसा,
    झारखण्ड,
    पश्चिम बंगाल

    21 गोदावरी नदी
    •लम्बाई: 1,450km
    •उद्गम स्थल: नासिक की पहाड़ियों से
    •सहायक नदी:प्राणहिता,
    पेनगंगा, वर्धा,
    वेनगंगा,
    इन्द्रावती,
    मंजीरा, पुरना महाराष्ट्र,
    कर्नाटक,
    आन्ध्र प्रदेश

    22 कृष्णा नदी
    •लम्बाई: 1,290km
    •उद्गम स्थल: महाबलेश्वर के निकट
    •सहायक नदी: कोयना, यरला,
    वर्णा, पंचगंगा,
    दूधगंगा,
    घाटप्रभा,
    मालप्रभा,
    भीमा, तुंगप्रभा,
    मूसी महाराष्ट्र,
    कर्नाटक,
    आन्ध्र प्रदेश

    23 कावेरी नदी
    •लम्बाई: 760km
    •उद्गम स्थल: केरकारा के निकट ब्रह्मगिरी
    •सहायक नदी:हेमावती,
    लोकपावना,
    शिमला, भवानी,
    अमरावती,
    स्वर्णवती कर्नाटक,
    तमिलनाडु

    24 नर्मदा नदी
    •लम्बाई: 1,312km
    •उद्गम स्थल :अमरकंटक चोटी
    •सहायक नदी: तवा, शेर, शक्कर,
    दूधी, बर्ना मध्य प्रदेश,
    गुजरात

    25 ताप्ती नदी
    •लम्बाई: 724km
    •उद्गम स्थल: मुल्ताई से (बेतूल)
    •सहायक नदी: पूरणा, बेतूल,
    गंजल, गोमई मध्य प्रदेश,
    गुजरात

    26 साबरमती
    •लम्बाई: 716km
    •उद्गम स्थल: जयसमंद झील
    (उदयपुर)
    •सहायक नदी:वाकल, हाथमती राजस्थान,
    गुजरात

    27 लूनी नदी
    •उद्गम स्थल: नाग पहाड़ •सहायक नदी:सुकड़ी, जनाई,
    बांडी राजस्थान,
    गुजरात,
    मिरूडी,
    जोजरी

    28 बनास नदी
    •उद्गम स्थल: खमनौर पहाड़ियों से
    •सहायक नदी :सोड्रा, मौसी,
    खारी कर्नाटक,
    तमिलनाडु

    29 माही नदी
    •उद्गम स्थल: मेहद झील से •सहायक नदी:सोम, जोखम,
    अनास, सोरन मध्य प्रदेश,
    गुजरात

    30 गोमती :-
    गोमती नदी का उद्गम उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले से हुआ है। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ इसी नदी के किनारे बसा हुआ है। यह गाजीपुर के निकट गंगा नदी मे मिल जाती है

    No comments

    Post Top Ad

    Post Bottom Ad