अंतरराष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस - Exam Prepare -->

Latest

Oct 17, 2017

अंतरराष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस

अंतरराष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस (17 अक्टूबर)


अंतरराष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस सम्पूर्ण विश्व में 17 अक्टूबर को मनाया जाता है। इसका उद्देश्य विश्व को गरीबी से मुक्त करना है।

अंतरराष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस: 17 अक्टूबर (International Day for The Eradication of Poverty in Hindi)

अंतरराष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस कब मनाया जाता है?


संपूर्ण विश्व में प्रत्येक वर्ष 17 अक्टूबर को अंतर्राष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन के रूप में मनाया जाता है। वर्ष 2016 में इस दिवस का मुख्य विषय (Theme) ‘‘अपमान और बहिष्कार से आगे जाकर भागीदारी की ओर बढ़नाः गरीबी की इसके सभी रूपों में समाप्ति’’।
अंतरराष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस
17 oct, अंतरराष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस

 अंतरराष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस का इतिहास:


संयुक्त राष्ट्र द्वारा 22 दिसम्बर 1992 को प्रत्येक वर्ष 17 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस मनाये जाने की घोषणा की गयी। इस दिवस पर विभिन्न राष्ट्रों द्वारा गरीबी उन्मूलन के लिए प्रयास, विकास एवं विभिन्न कार्यों व योजनाओं को जारी किया जाता है।

यह दिवस पहली बार 1987 में फ्रांस में मनाया गया जिसमें लगभग एक लाख लोगों ने मानव अधिकारों के लिए प्रदर्शन किया था। यह आंदोलन एटीडी फोर्थ वर्ल्ड के संस्थापक जोसफ व्रेंसिकी द्वारा आरंभ किया गया। इसके अतिरिक्त गरीबी से लड़ाई सहस्राब्दि विकास लक्ष्यों (एमडीजी) और नए सतत विकास लक्ष्यों के विकास के मूल में निहित है।

 अंतरराष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन दिवस का उद्देश्य:


इस दिवस का उद्देश्य विश्व समुदाय में गरीबी दूर करने के लिए किये जा रहे प्रयासों के संबंध में जागरूकता बढ़ाना है। इस दिवस पर विभिन्न राष्ट्रों द्वारा गरीबी उन्मूलन के प्रयास, विकास एवं विभिन्न कार्यों व योजनाओं को जारी किया जाता है।

भारत में गरीबी दर:


केंद्र सरकार ने 2012 में बताया कि भारत में 21.9 प्रतिशत आबादी गरीबी रेखा से नीचे रहती है।विश्व बैंक की 2011 रिपोर्ट में कहा गया कि भारत की 23.6 प्रतिशत जनसंख्या (लगभग 276 मिलियन) की प्रतिदिन क्रय शक्ति 1।25 डॉलर प्रतिदिन है।इसके अतिरिक्त 2016 में जारी अंतरराष्ट्रीय भुखमरी सूचकांक में भारत को 97वां स्थान मिला है। इसमें विकासशील देशों के लिए औसत दर 21.3 रखी गयी थी जबकि भारत की यह दर 28.5 प्रतिशत थी।

No comments:

Post a Comment